विदेशी बाजार में सोने की कीमतों में आई भारी गिरावट की वजह से घरेलू बाजार में भी सोने में भारी भरकम गिरावट आई है। विदेशी बाजार में सोने की कीमतों ने 5 साल के निचले स्तर 1,088 डॉलर प्रति औंस को छुआ है। फिलहाल भाव 1,100 डॉलर प्रति औंस के ऊपर कारोबार कर रहा है। विदेशी बाजार में इस गिरावट की वजह से घरेलू बाजार में भी सोना सस्ता हुआ है और भाव 25,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के नीचे लुढ़क गया है जो 2 साल में सबसे कम भाव है। चीन के पास अनुमान से कम सोने का भंडार चीन के पास सोने का जितना भंडार होने का अनुमान लगाया जा रहा था उससे कम सोने का भंडार है। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के आंकड़ों के मुताबिक चीन के पास 1,658 टन सोने का भंडार है और चीन हर साल करीब अपने भंडार में 100 टन सोना भरता जा रहा है। साल 2009 से चीन ने जिस तरह से सोने की खरीदारी की है उसे देखते हुए माना जा रहा था कि चीन के पास सोने का बहुत बड़ा भंडार हो चुका है। चीन की ओर से पहले उसके सोने के भंडार को लेकर किसी तरह के आंकड़े भी जारी नहीं होते थे लेकिन अब चीन के सेंट्रल बैंक ने आंकड़े जारी कर कहा है कि उसके पास 1,658 टन सोना है। चीन के पास अनुमान से कम सोने का भंडार होने की वजह से सोने की कीमतों में भारी गिरावट आई है। साल 2009 से लेकर चीन के सेंट्रल बैंक ने 604 टन सोने की खरीद की है। डॉलर में जोरदार तेजी से टूटा सोना दुनियाभर के निवेशक आने वाले दिनों में डॉलर में तेजी की उम्मीद लगाए बैठे हैं ऐसे में डॉलर में निवेश लगातार बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी सेंट्रल बैंक ने पहले ही साफ कर दिया है कि इस साल ब्याज दरों में बढ़ोतरी हो सकती है। इस वजह से भी डॉलर में मजबूती आ रही है। डॉलर इंडेक्स एक बार फिर से करीब 3 महीने की ऊंचाई तक पहुंच गया है। डॉलर में आई तेजी की वजह से भी सोने का भाव लगातार घटता जा रहा है।

विदेशी बाजार में सोने की कीमतों में आई भारी गिरावट की वजह से घरेलू बाजार में भी सोने में भारी भरकम गिरावट आई है। विदेशी बाजार में सोने की कीमतों ने 5 साल के निचले स्तर 1,088 डॉलर प्रति औंस को छुआ है। फिलहाल भाव 1,100 डॉलर प्रति औंस के ऊपर कारोबार कर रहा है। विदेशी बाजार में इस गिरावट की वजह से घरेलू बाजार में भी सोना सस्ता हुआ है और भाव 25,000 रुपये प्रति 10 ग्राम के नीचे लुढ़क गया है जो 2 साल में सबसे कम भाव है।

चीन के पास अनुमान से कम सोने का भंडार

चीन के पास सोने का जितना भंडार होने का अनुमान लगाया जा रहा था उससे कम सोने का भंडार है। वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के आंकड़ों के मुताबिक चीन के पास 1,658 टन सोने का भंडार है और चीन हर साल करीब अपने भंडार में 100 टन सोना भरता जा रहा है। साल 2009 से चीन ने जिस तरह से सोने की खरीदारी की है उसे देखते हुए माना जा रहा था कि चीन के पास सोने का बहुत बड़ा भंडार हो चुका है। चीन की ओर से पहले उसके सोने के भंडार को लेकर किसी तरह के आंकड़े भी जारी नहीं होते थे लेकिन अब चीन के सेंट्रल बैंक ने आंकड़े जारी कर कहा है कि उसके पास 1,658 टन सोना है। चीन के पास अनुमान से कम सोने का भंडार होने की वजह से सोने की कीमतों में भारी गिरावट आई है। साल 2009 से लेकर चीन के सेंट्रल बैंक ने 604 टन सोने की खरीद की है।

डॉलर में जोरदार तेजी से टूटा सोना

दुनियाभर के निवेशक आने वाले दिनों में डॉलर में तेजी की उम्मीद लगाए बैठे हैं ऐसे में डॉलर में निवेश लगातार बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी सेंट्रल बैंक ने पहले ही साफ कर दिया है कि इस साल ब्याज दरों में बढ़ोतरी हो सकती है। इस वजह से भी डॉलर में मजबूती आ रही है। डॉलर इंडेक्स एक बार फिर से करीब 3 महीने की ऊंचाई तक पहुंच गया है। डॉलर में आई तेजी की वजह से भी सोने का भाव लगातार घटता जा रहा है।

Share This Post

Post Comment