जिम्बाब्वे ने दी कांटे की टक्कर, आखिरी गेंद पर जीता भारत, सीरीज पर 2-1 से कब्जा

हरारे में तीसरे और आखिरी टी20 मैच में टीम इंडिया ने जिम्बाब्वे को बेहद करीबी मुकाबले में 3 रनों से हार दिया. इस जीत के साथ ही भारत ने टी 20 सीरीज 2-1 से जीत ली. मैच का परिणाम आखिरी गेंद पर आया. भारत ने जिम्बाब्वे के सामने जीत के लिए 139 रनों का लक्ष्य रखा था. जवाब में जिम्बाब्वे 6 विकेट पर 135 रन ही बना सका.

 

 

सरन प्लेयर ऑफ द सीरीज
जिम्बाब्वे की तरफ से सबसे ज्यादा रन वुसी सिबांडा ने बनाए. वे 28 रन बनाकर आउट हुए. भारत की तरफ से सरन और कुलकर्णी को 2-2 विकेट मिले. जबकि पटेल और चहल ने 1-1 विकेट लिया. मैच में इकलौता अर्धशतक बनाने वाले केदार जाधव मैन ऑफ द मैच बने जबकि सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बरिंदर सरन मैन ऑफ द सीरीज बने.

भारत की खराब शुरुआत
इससे पहले टॉस हारकर जिम्ब्बावे दौरे पर पहली बार पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की पारी की शुरुआतलोकेश राहुल और मंदीप सिंह की जोड़ी ने की. अपना केवल तीसरा टी20 इंटरनैशनल मैच खेलने उतरे मंदीप सिंह चौथे ओवर में आउट हो गए. मंदीप सिंह ट्रिपानों की गेंद पर मरुमा को कैच थमा बैठे. उन्होंने चार रनों का योगदान दिया.

झटके पर झटका
इसके बाद इसी दौरे पर अपने पहले ही वनडे में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बनने वाले टीम के दूसरे ओपनर लोकेश राहुल भी पांचवे ओवर में आउट हो गए. उन्हें मदजीवा ने बोल्ड किया. राहुल ने 20 गेंदों पर 22 रन बनाए. अगली ही गेंद पर मनीष पांडे भी रन आउट हो गए. पांडे अपना खाता भी नहीं खोल सके. टीम ने सात रन के अंतराल पर तीन विकेटें गंवाई. तीन विकेट गिरने तक भारत का स्कोर 4.4 ओवर्स में 27 रन था. इसके बाद केदार जाधव और अंबाति रायडू ने संभल कर बल्लेबाजी करना शुरू किया और टीम का स्कोर 76 रनों तक ले गए. इन दोनों ने 49 रनों की साझेदारी निभाई. 76 रन के योग पर रायडू क्रीमर की गेंद पर चिगुम्बुरा को कैच थमा बैठे. यह टी20 क्रिकेट में रायडू का सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर है. इसके बाद कप्तान धोनी और जाधव स्कोर को 93 तक ले गए. कप्तान धोनी लगातार पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में नॉटआउट (13*, 13*, 18*, 15* और 19*) रहने के बाद आज पहली बार आउट हुए. धोनी ने 13 गेंदों पर 9 रन बनाए.

केदार ने संभाली पारी
धोनी के आउट होने के बाद केदार जाधव ने टी20 क्रिकेट में अपना पहला अर्धशतक बनाया. जाधव एकमात्र ऐसे बल्लेबाज रहे जिन्होंने बेहद सटीक बल्लेबाजी तकनीक का इस्तेमाल करते हुए केवल 42 गेंदों पर एक छक्के और सात चौके की मदद से 58 रन बनाए. जाधव 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर आउट हुए. तब भारत का स्कोर 6 विकेट के नुकसान पर 122 रन था. अंतिम ओवर में अक्षर पटेल ने शानदार बल्लेबाजी की और 16 रन जोड़े.

17 ओवर तक 5.58 रन प्रति ओवर की औसत से खेल रही टीम इंडिया ने आखिरी तीन ओवरों में 43 रन जुटाए.

अब तक जिम्बाब्वे के खिलाफ खेले गए सात टी20 मुकाबले के पावरप्ले में पहली बार भारत ने तीन विकेट गंवाए हैं. साथ ही टी20 क्रिकेट के पहले छह ओवर में भारत ने केवल 29 रन जोड़े जो कि टीम का इतने ओवर्स में अब तक सबसे कम स्कोर है.

टीमें :

भारत : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), लोकेश राहुल, मंदीप सिंह, अंबाती रायडू, मनीष पांडेय, केदार जाधव, अक्षर पटेल, धवल कुलकर्णी, जसप्रीत बुमराह, बरिंदर सरन और यजुवेंद्र चहल

जिम्बाब्वे : ग्रेम क्रेमर (कप्तान), चामुनओरवा चिबाबा, हेम्लिटन मासाकाड्जा, वुसी सिबांडा, मैक्लम वालेर, एल्टन चिगम्बुरा, पीटर मूर्स, टिमसेन मारुमा, एन मदजीवा, तेंडाई चतारा और डोनाल्ड तिरिपानो

Share This Post

Post Comment